खुद को हर दिन प्रेरित रखने के कुछ टिप्स

1- कोई भी सिवाय आपके आपको पुश नहीं कर सकता है, मंजिल तक पंहुचने के लिए आपको कदम स्वयं ही उठाने होंगें।

2- खुद को नाउम्मीद मत होने दीजिए, हमेशा विश्वास रखिए कि कुछ अच्छा अवश्य ही होगा।

3- याद रखिये कि दुनिया में कुछ भी स्थायी नहीं है, यहां तक कि आपकी तकलीफें और दुख भी स्थायी नहीं हैं।

4- बीते हुए को बिसार देना आसान नहीं है पर जीवन में आगे बढ़ने के लिए यह जरूरी है।

5- सपने देखना मत छोड़िए, आपको नहीं पता है कि आने वाले कल में आपके लिए क्या छिपा है।

6- इस बात से डरना छोड़िये कि क्या गलत हो सकता है बल्कि इस चीज पर ध्यान दीजिए कि क्या सही हो सकता है।

7- यदि आपके पास प्रेम करने वाली फैमिली, सुख-दुख बांटने के लिए दोस्त, खाने के लिए भोजन और सिर के ऊपर छत है तो यकीन मानिए आप जितना समझते हैं उससे कहीं ज्यादा भाग्यशाली हैं।

8- सीखने के लिए केवल सफल लोगों की ओर ही मत देखिये असफलता की कहानियां भी पढ़िए, असफलता सफलता से कहीं ज्यादा सिखाती है।

9- सफल होने से पहले आपको सैकड़ों बार असफल होना पड़ता है, कोशिश करना मत छोड़िये और सही मौके का इंतजार करिये।

10- कठिन परिश्रम सफलता की गारंटी नहीं है लेकिन यह कठिन परिश्रम ही है जो इसे चैलेंजिंग बनाता है।

जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग क्या हैं

1- यह जानना कि आप किसी की खुशी का कारण हैं क्योंकि उन्होंने आपको अपने आंसुओं को पोछने के लिए चुना है, जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

2- यह जानना कि आप अकेले नहीं हैं और जीवन में आपने जिन चीजों चुना है वे सिंपल लेकिन यूनिक हैं, जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

3- यह जानना कि आपका दिल दूसरों के लिए प्यार से भरा हुआ है और कोई अपनी मुस्कान के लिए आप पर निर्भर है, जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

4- यह जानना कि कोई अपने निर्णयों के लिए आपकी तरफ देख रहा है और आपके कार्य किसी का भविष्य बना सकते हैं, जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

5- जब आप से पूरी तरह अनजान कोई व्यक्ति अचानक आपकी तारीफ करता है, तो यह जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

6- जब आप बदले में कुछ की उम्मीद किए बिना दूसरों की मदद करते हैं, तो यह जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

7- संघर्ष के कई सालों के बाद जब आप अंततः अपने माता-पिता को आरामदायक जीवनशैली देने के लिए पर्याप्त कमाई करने में सक्षम होते हैं, तो यह जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

8- दूसरों की आर्थिक या अन्य रूप में सहायता करना और किसी के सपनों को सच करने में मदद करना,जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

9- जब आप गाड़ी चला रहे हों और ठंडी हवा जब आपके चेहरे से गुजरती है,तो यह जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

10- अपने प्रियजनों के चेहरों को मुस्कुराते हुए देखना जब उन्हें आप स्पेशल महसूस कराते हैं, यह जीवन की कुछ सबसे अच्छी फीलिंग में से एक है।

जीवन की कुछ छोटी पर महत्वपूर्ण बातें क्या हैं

1- पहचान के लिए इंतजार मत करो,जुनून और लगन के साथ अपना काम पूरा कीजिए चाहे उसके लिए आपको मान्यता मिले है या नहीं। दूसरों को इम्प्रेस करने के लिए नहीं बल्कि खुद को एक्सप्रेस करने के लिए काम को करना सीखिए।

2- आपकी सबसे बड़ी कमजोरी भी आपके लिए फायदेमंद हो सकती है। अपनी कमजोरी को स्वीकार कीजिए और अपने आप को कोसने की बजाय बुद्धिमानी से उसका इस्तेमाल करना सीखिये।

3- यदि लोग आपके जुनून या लक्ष्य के बारे में आपकी आलोचना करते हैं, तो उनके साथ बहस मत करिये। कड़ी मेहनत करिए, आपकी सफलता और उपलब्धियां उन्हें चुप करा देंगी।

4- किसी बच्चे की तरह बिना किसी कारण से खुश रहना सीखिये क्योंकि यदि आप किसी कारण से खुश होते हैं तो आप परेशानी में पड़ सकते हैं क्योंकि उस कारण को आपसे वापस भी छीना जा सकता है।

5- हमारे चरित्र का सही परीक्षण यह नहीं है कि हम अपने अच्छे दिनों में कैसे व्यवहार करते हैं, बल्कि यह है कि हम अपने सबसे खराब दिनों में कैसे प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं।

6- जीवन में त्रासदी आपके लक्ष्य तक न पहुंच पाने में नहीं है, वास्तविक त्रासदी तो जीवन में कहीं पहुंचने के लिए किसी लक्ष्य का नहीं होना है।

7- कभी-कभी उन्हें छोड़ दो, कहीं और जाओ, कहीं और मन लगाओ क्योंकि बार-बार छूने से घाव कभी नहीं भरते हैं।

8- एक सार्थक चुप्पी हमेशा अर्थहीन शब्दों से बेहतर होती है।

9- आपके सपनों की कोई एक्सपायरी डेट नहीं होती, गहरी सांस लीजिए और एक बार फिर अपने सपनों को पूरा करने की कोशिश कीजिए।

10- कुछ लोग जिंदगी में आपको छोड़ कर चले जाएंगे, लेकिन यह आपकी कहानी का अंत नहीं है.. यह आपकी कहानी में उनके हिस्से का अंत है ।

मानवीय पर्सनाल्टी के कुछ रोचक तथ्य जिन्हें हमें जानना चाहिए

1- मुस्कुराते रहिये, यह आपके चेहरे की सुंदरता बढ़ाती है। एक अध्यन के अनुसार आपकी मुस्कुराहट बाहरी मेकअप की तुलना में करीब 69 प्रतिशत ज्यादा आकर्षक है।

2- दूसरे व्यक्ति आपकी तरफ ज्यादा आकर्षित तब होते हैं, जब आपकी बातें उन्हें हंसने या मुस्कुराने पर मजबूर कर देती हैं।

3-आप जितना सोचते हैं, आपके जूते उससे कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। लोग अक्सर दूसरों के जूतों को देखकर उनके बारे में महत्वपूर्ण राय कायम कर लेते हैं।

4- जब आप जम्हाई लेते हैं और आपको देखकर कोई दूसरा व्यक्ति भी जम्हाई लेता है तो इसका मतलब है कि या तो वह व्यक्ति आपको घूर रहा था या फिर उसे आपमें कुछ इंट्रेस्ट है।

5- दूसरों के ऊपर हंसने से पहले दोबारा सोचिये। लोग जिन चीजों पर हंसते हैं उन पर गौर करने से ही उनके करेक्टर के बारे में आप बहुत कुछ अनुमान लगा सकते हैं।

6- जब आप अनिर्णय की स्थिति में हो तो एक सिक्का हवा में उछालिये ,जब सिक्का हवा में होता है तब अक्सर आपको यह महसूस होता है कि आप वास्तव में क्या चाहते हैं।

7- यदि आप यह जानना चाहते हैं कि सामने वाला आपकी बातों पर ध्यान दे रहा है या नहीं, तो बात करते समय अपनी बाहों को मोड़िये यदि सामने वाला भी एेसा करता है तो इसका अर्थ है कि वो आपकी बातों में इंट्रेस्ट ले रहा है।

8- आपके पंसदीदा गाने के बोल अक्सर उन बातों को व्यकत करते हैं जिन्हें दूसरों सेे कहने या अभिव्यक्त करने में आप कठिनाई महसूस करते हैं।

9- अगर आप किसी से कुछ जानना चाहते हैं, तो उनसे एक प्रश्न पूछिए और जब वे उसका उत्तर दे चुके हों, तब चुप रहिये और आंखों के संपर्क को बनाए रखिये। वे आपको कुछ और बताएंगे, लगभग सब कुछ बता देंगे।

10- जब आप किसी को किसी चीज़ के लिए मनाने की कोशिश करते हैं, तो सुनिश्चित करिये कि वे बैठे हों और आप खड़े हों। एेसा करने से उन्हें आप जल्द ही विश्वास होता है।

जीनियस पैदा होते हैं या फिर बनते हैं

एक बार किसान ने कुछ बीजों को बोने के लिए उन्हें अपने खेत में बिखेर रहा था, कुछ बीज खेत से बाहर गिर गए और पक्षियों ने उन्हें खा लिया।

कुछ बीज मेड़ के किनारे उथली मिट्टी पर गिरे, एेसे बीज जल्दी उगने लगे क्योंकि मिट्टी उथली थी लेकिन ये पौधे जल्द ही तेज धूप में कुम्हला गए और चूंकि उनकी जड़ें गहरी नहीं थीं, इसलिए वे जल्द ही मर गए।

कुछ बीज खेत के किनारे उगी हुई झाड़ियों में जा गिरे और उनकी ग्रोथ को खर-पतवार ने दबा दिया।

फिर भी अन्य बीज खेत की उपजाऊ मिट्टी पर गिर गए, और उन्होंने अपनी संख्या से करीब पचास गुना ज्यादा फसल का उत्पादन किया।

सभी इंसान प्रकृति से प्राप्त कुछ विशेष उपहारों के साथ पैदा होते हैं जिन्हें हम उनकी क्षमताएं कह सकते हैं।

ये क्षमताएं बीज की तरह होती हैं जो केवल उपजाऊ मिट्टी में लगाए जाने पर फसल का रूप ले सकती हैं और साथ ही उन्हें पानी, उर्वरक,कीटनाशक और विभिन्न प्रकार से देखभाल की आवश्यकता भी होती है।

जिन लोगों को हम आज जीनियस के रूप में जानते हैं ये वे लोग हैं जिनमें निस्संदेह रचनात्मकता, संगीत, इनोवेशन या दूसरे कुछ प्राकृतिक उपहार पहले से ही मौजूद थे।

हालांकि, दुनिया के हर देश में, हर काल में, लाखों लोगों में ऐसी क्षमताएं मौजूद होती है। लेकिन समस्या यह है कि सही वातावरण की कमी के कारण इन क्षमताओं को उनके द्वारा ठीक से पोषित नहीं किया जाता है।

सोचिए यदि आइंस्टीन भारत में पैदा हुए होते और एक सरकारी स्कूल में पढ़ते, तो क्या कभी वह उन अविष्कारों को अंजाम दे पाते जिनके लिए हम आज उन्हें जानते हैं या फिर सचिन तेंदुलकर इसी अवधि में जर्मनी में पैदा हुए होते, तो क्या फिर क्रिकेट की दुनिया को यह नायाब हीरा मिल पाता।

इसलिए, मेरी समझ से प्रतिभा केवल कुछ असाधारण उपहारों के साथ पैदा नहीं होती है, बल्कि उन्हें सही समय औ सही जगह का भी आशीर्वाद प्राप्त होता है जो उन्हें अपनी क्षमताओं को विकसित करने और अपने उपहारों को दुनिया के साथ साझा करने का मौका देता है।

हर साल लाखों प्रतिभाशाली पैदा होते हैं और वे अज्ञात मर जाते हैं क्योंकि उनके उपहार के बीज कभी उपजाऊ मिट्टी में नहीं लगाए जाते हैं या फिर उन्हें अपने मेंटर द्वारा ठीक से विकसित नहीं किया जाता है।

जानिए ह्यूमन साइक्लोजी आपके बारे में क्या कहती है

1- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार यदि कोई व्यक्ति बिना बात के ही बहुत हंसता है तो इसका अर्थ है कि वह इंसान अंदर से बहुत अकेला है।

2- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार जब कोई व्यक्ति बहुत कम पर जल्दी-जल्दी बोलता है तो इसका अर्थ है कि वह आपसे कुछ छिपा रहा है।

3- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार जब कोई व्यक्ति असमान्य ढंग से और तेजी से खाना खाता है तो इसका अर्थ है कि वह व्यक्ति तनाव में है।

4- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार जब कोई व्यक्ति सच बोलता है तब वह बातें करते वक्त अपने हाथों का अत्याधिक प्रयोग अपने मनोभावों को प्रकट करने में करता है, जब कोई झूठ बोलता है तो बातें करते समय उसके हाथ बिल्कुल स्थिर रहते हैं।

5- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार स्वयं को यह समझाने की कोशिश करना आप किसी व्यक्ति की बिल्कुल परवाह नहीं करते हैं,इस बात का प्रमाण है कि आप उसकी परवाह करते हैं।

6- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार हमारी नाक का सीधा सबंध हमारे मस्तिष्क के स्मृति केन्द्र से होता है, यही कारण है कि कुछ गंध अक्सर हमारी पुरानी यादों को ताजा कर देती है।

7- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार जब आप अपने हाथों में किसी अपने का हाथ लेते हैं तो इसका आपके शारीरिक दर्द और मानसिक तनाव पर उतना ही असर होता है जितना कि किसी हाई डोज पेनकिलर दवा का होता है।

8- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार जब आप किसी व्यक्ति के बहुत करीब होते हैं तब आप उनके शब्दों को पढ़ते समय उनकी आवाज को अपने दिमाग में सुन सकते हैं।

9- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार जब आप किसी से अत्याधिक प्रेम करते हैं तो उनसे ज्यादा समय तक नाराज रहना असंभव है,यदि नाराजगी तीन दिन से ज्यादा बनी रहती है तो इसका अर्थ है कि आप उस व्यक्ति के साथ प्यार में नहीं थे।

10- ह्यूमन साइक्लोजी के अनुसार हम किसी व्यक्ति पर पूरी तरह से भरोसा बस एक बार ही कर पाते हैं,एक बार भरोसा टूट जाने पर फिर पहले जैसी बात नहीं रह जाती है।

कुछ बातें जो हमें सबसे ज्यादा परेशान करती हैं

1- जब लोग सच्ची खुशी ढूढ़ने के बजाय सोशल मीडिया पर खुश होने का नाटक करते हैं,लोग आजकल लाइक्स और कमेंट्स की इतनी परवाह करते हैं कि वे ऑनलाइन अंटेशन पाने के लिए कुछ भी पोस्ट करते हैं।

2- जब लोग एक दूसरे की मदद तब तक नहीं करते हैं जब तक कि दूसरे उन्हें नोटिस न करें। वे मदद इसलिए नहीं करते हैं क्योंकि वे मदद करना चाहते हैं, वे मदद इसलिए करते हैं ताकि अन्य लोग उन्हें देख सकेंं।

3- जब लोग दूसरों को प्रभावित करने के लिए महंगी कारों और चीजों को खरीदते हैं और कर्ज के जाल में फंस जाते हैं, लोग अमीर होने की बजाय अमीर दिखने की परवाह अधिक करते हैं।

4- जब लोग पैसों के लिए रिश्तों की परवाह भी नहीं करते हैं, यह देखकर बहुत तकलीफ होती है कि आजकल पैसा मानव जीवन से अधिक महत्वपूर्ण हो गया है।

5- जब भी मीडिया अनदेखी करता है और कई महत्वपूर्ण घटनाओं, आपदाओं, खेल उपलब्धियों पर ध्यान नहीं दिया जाता है या वे उन्हें राष्ट्रीय कवरेज में स्थान नहीं दिया जाता है।

6- जब भी कोई इंसान किसी अन्य इंसान से घृणास्पद और अनुचित तरीके से व्यवहार करता है, क्योंकि वह वे उनसे अलग होते हैं।

7- जब कोई शिक्षित व्यक्ति दहेज,जात-पात, और अंधविश्वास जैसी बातों में पड़कर अपने जीवन को बेकार करता है।

8- जब हम शादी-पार्टी में मनोरंजन के नाम पर बहुत से भोजन को बर्बाद करते हैं जिससे बहुत से भूखे आदमियों का पेट भरा जा सकता था।

9- जब हम मदर्स डे और फादर्स डे का जश्न मनाते हैं, लेकिन माता-पिता को अपने साथ रखने से इन्कार कर देते हैं।

10- जब एक मजदूर के बच्चे ने डाक्टर से कहा मुझे कोई एेसी दवा दे दो कि मुझे भूख ही न लगे।

टाइम मैनेजमेंट ही सफलता की गारंटी है

काल का कोई भी क्षण सामान्य नहीं होता है। हर पल अद्भुत और असामान्य है। वह कोई क्षण ही था जिसने हमें जीवन दिया था, वह भी समय का एक क्षण ही था जिसने सब कुछ छीन लिया था। जिन्दगी में हर क्षण एक अनूठा अवसर लेकर आता है, उस क्षण के सही उपयोग में ही जीवन की सफलता का रहस्य समाया हुआ है।

अस्त-व्यस्त जीवन शैली और नकारात्मक आदतें जिन्दगी में आने वाले बहुमूल्य अवसरों को हाथ से फिसलती हुई रेत के मानिंद गवांती रहती हैं। एेसे में अंत में हमारे हाथ कुछ नहीं लगता है बल्कि जो कुछ भी पास रहता है वह भी बिखर के समाप्त हो जाता है।

समय अपनी गति के अनुरूप चल रहा है, इसकी गति न तो किसी के लिए अधिक है और न ही किसी के लिए कम, एक दिन भी 24 घंटे की अवधि में बंधा हुआ है। सभी के लिए यही समय है और इसी समय को साधन के रूप में प्रयोग करना होता है।

समय का कांटा मन की घड़ी पर घूमता है, होश में रहकर ही समय का सदुपयोग किया जा सकता है। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में समय का महत्व कहीं ज्यादा बढ़ गया है। कार्पोरेट और मल्टीनेशनल कंपनियों में कम समय में अधिक उत्पादकता पर जोर दिया जा रहा है। टाइम मैनेजमेंट एक चुनौती है जिसका सही उपयोग करके हर कोई अपने – अपने कार्यक्षेत्र में सफल हो सकता है।

अक्सर काम आरंभ करते समय मन में अनेक काम घुमने लगते हैं। इन सभी कामों में से हमें उस कार्य को चुनना चाहिए जिसकी आवश्यकता सर्वोपरि हो, प्राथमिकता उस काम को देनी चाहिए जो वर्तमान समय की सबसे बड़ी मांग हो। काम को चुन लेने पश्चात काम को कितने समय में और कब तक पूरा करना है इसको निर्धारित करना चाहिए साथ ही काम से जुड़ी जिम्मेदारी को समझ कर कार्य प्रारंभ करना चाहिए।

चरणबद्ध तरीके से नियत समय के भीतर इस प्रकार किया गया कार्य अवश्य पूरा होता है इसे ही मैनेजमेंट की भाषा में समय प्रबंधन या टाइम मैनेजमेंट कहते हैं।

कुछ बातें जो इशारा करती हैं कि जीवन में सब-कुछ ठीक नहीं चल रहा है

1- जब आप कुछ नया सीखने के लिए उत्साह महसूस नहीं करते हैं और काम पर सिर्फ इसलिए जाते हैं ताकि आपको कंपनी द्वारा सैलरी मिलती रहे।

2- जब आपको सुबह उठने में कठिनाई महसूस होती है क्योंकि वर्तमान में आप जो कर रहे हैं उसे लेकर आप बिल्कुल भी उत्साहित नहीं हैं।

3- जब आपके पास जीवन में जो कुछ भी गलत हो रहा है उसके लिए कोई न कोई बहाना होता है।

4- जब आप सबकुछ कल पर टालने लगते हैं और वो कल कभी नहीं आता है।

5- जब आपको लगने लगता है कि आप जो कर रहे हैं वह वह नहीं है जिसे आप हमेशा करना चाहते थे।

6- जब आप परिवार के लिए कुछ समय नहीं निकाल पाते हैं। यकीन मानिए सिर्फ पैसे के पैसे के लिए परिवार से दूर रहने का आपको बाद में बहुत पछतावा होगा।

7- जब आपके दोस्त आपके साथ अपनी समस्याओं को साझा करना बंद कर देते हैं, इसका मतलब है कि आपने उनके विश्वास को खोया है।

8- जब आप नहीं जानते कि अपने क्रोध को कैसे नियंत्रित किया जाए, और जब आप अक्सर छोटी-छोटी चीजें और बातों पर भी क्रोधित हो जाते हैं।

9- जब आप अपनी कमजोरी को पहचान नहीं पाते हैं और आपको यह पता नहीं होता कि अपनी कमियों को दूर कैसे किया जा सकता है।

10- जब आप तनाव को बढ़ाने के लिए अपने दिमाग में निरंतर नकारात्मक बातों को भरते रहते हैं।

11- जब आप लगातार अपने स्वास्थ्य को अनदेखा करते हैं और आगाह करने पर भी अपनी जीवनशैली में बदलाव नहीं करते हैं।

कुछ गलतियां जिन्हें करने से हमें बचना चाहिए

1- किसी का कभी दिल मत दुखाइये, आपको एक दिन इसका हिसाब करना ही होगा। याद रखिए कि कर्म हमारा पीछा जिंदगी भर करते हैं और उनसे बच पाना नामुमकिन है।

2- अपने माता-पिता का अपमान कभी मत करिये न ही कभी उनका विश्वास तोड़िये। आपके बुरे वक्त के दौरान, जब आपका साया भी साथ छोड़ देता है, वे हमेशा आपके साथ मजबूती से खड़े रहेंगे।

3- हमेशा लोगों को जज मत कीजिये, आप नहीं जानते कि सामने वाला किस तरह के संघर्षों से गुजर रहा है, आप किसी के कार्यों के पीछे पूरी कहानी कभी नहीं जान सकते हैं।

4- अपने आस-पास की हर चीज के बारे में शिकायत मत करिये। यदि आप उन्हें ठीक कर सकते हैं तो प्रयास कीजिए अन्यथा उनके साथ जीना सीख लीजिये।

5- अपनी गलतियों और कमियों को स्वीकार करने में संकोच मत कीजिये, एक बार जब आप उन्हें स्वीकार कर लेते हैं, तो कोई भी आपके खिलाफ उनका उपयोग नहीं कर सकता है।

6- बिना किसी सोचे -समझे के किसी और का अन्धा अनुकरण मत करिये, हो सकता है किसी दूसरे क्षेत्र में आपकी प्रतिभा दूसरों से बेहतर हो।

7- जहां तक हो सके किसी के लिए कठोर शब्दों का इस्तेमाल मत कीजिए। शब्द ऐसे गहरे घाव दे सकते हैं जिन्हें ठीक होने में मुश्किल होती है।

8- जीवन में उन लोगों को कभी अनदेखा मत कीजिए जो वास्तव में आपकी परवाह करते हैं। एेसे लोग ही आपकी वास्तविक संपत्ति हैं।

9- कभी भी अपना हौबी को मत छोड़िये, चाहे वह संगीत, नृत्य या कोई अन्य चीज हो। यह आपको अपने जीवन के सबसे मुश्किल समय में टूटने से बचाने में बहुत सहायक साबित होगा।

10- बार- बार सारी बोलने से बचिये, एेसा करने पर आप कम वास्तविक लगते हैं। आप जितनी ज्यादा बार सारी बोलेंगे सामने वाला व्यक्ति उसी अनुपात में आपको गलत समझेगा।