क्या इस दुनिया मे सीधे इंसान का गलत फायदा उठाया जाता है ?

जिंदगी में अनेक अवसर एेसे आ जाते हैं जो पूरी तरह से अप्रत्याशित और प्राकृतिक नियमों के विपरीत दिखाई देते हैं। एक इंसान जो अच्छे कर्म करता है और बुराई से दूर रहता है उसके ऊपर अचानक एेसी घोर विपत्ति आ जाती है कि मानो उसे किसी बड़े भारी अपराध की सजा मिल रही हो। वहीं एक दूसरा व्यक्ति बुरे से बुरे कर्म करता है पर हर प्रकार के सुख और सौभाग्य उसे प्राप्त होते हैं।

सीधे लोगों का फायदा उठाया जाता है और उन्हें बहुत ज्यादा धोखा भी मिलता है। दिल से साफ और कोमल होने कि वजह से उन्हें दुख भी बहुत होता है। बहुत बार आपकी सरलता को लोग आपकी कमजोरी समझ लेते हैं।

जीवन में एेसे मौकों के आने पर हममें से अधिकांश लोग बहुत भ्रमित हो जाते हैं और अनेक एेसी धारणाएं बना लेते हैं जो जीवन के लिए बहुत घातक सिद्ध होती हैं। कुछ लोग ईश्वर पर कुपित हो जाते हैं और अपनी दुर्दशा के लिए उसे जिम्मेदार ठहराते हैं तो कई नास्तिक हो जाते हैं।

मुश्किल अवसरों पर हमारी एेसी सोच हो जाने का मुख्य कारण भाग्य के संबंध में हमारे मन में जमी हुई गलत धारणाएं हैं। बात को सही ढंग से न समझ पाने के कारण ही हमारे मन में एेसी बातें घर कर जाती हैं।

कुछ लोगों को लगने लगता है कि अब कर्मों को करने का कोई फायदा नहीं जो भाग्य में लिखा होगा सो होकर रहेगा। एेसे अवसरों पर हममें से ज्यादातर लोग भाग्य की वेदी पर कर्मों की बलि चढ़ा देते हैं।

कहते हैं कर्मों की गति गहन होती है जिसे समझ पाना मुश्किल है। किसी विषय की जानकारी न होने एवं गलत जानकारी होने में फर्क होता है। गलत धारणाएं जब हमारे जीवन में घुसकर गहरी पैठ बना लेती हैं तो जीवन का प्रवाह उल्टा और विकृत हो जाता है।

सकारात्मक सोच रखकर लगातार कर्म करते रहना ही हमारे हाथ में है और यही जीवन जीने का सही नजरिया भी है। उम्मीद का दामन कभी मत छोड़िए क्योंकि जब तक साँस है तब तक आस है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.