इस वर्ष खुद को और बेहतर बनाइये

हर वर्ष हम यह सोचते तो हैं कि इस साल हम कुछ बड़ा काम करेंगे एवं दूसरों की भलाई एवं सहायता करेंगे पर कर नहीं पाते हैं।

हम दूसरों की तरह बनना तो चाहते हैं पर स्वयं को और अपनी अादतों को बदल नहीं पाते हैंं। अच्छी बात यह है कि गलत राहों को छोडकर सही मार्ग पर चलने में कभी देर नहीं होती । सुबह का भूला शाम को लौट आए तो वह भूला नहीं कहलता है। जीवन में आने वाला हर नया साल भी हमें यही पैगाम देता है कि जब जागो तभी सवेरा।

कुछ छोटी – छोटी बातों को अपनाकर एक नई शुरूआत की जा सकती है और इस नई शुरूआत को करने के लिए नये वर्ष से बेहतर दूसरा कोई अवसर नहीं हो सकता है।

अच्छी ऊर्जा संक्रामक होती है। लोगों को छोटी- छोटी खुशियां देने की कोशिश कीजिए। कभी अपनी माँ के लिए एक कप चाय बनाइये, कभी अपने किसी पुराने दोस्त जिससे लंबे समय से बात न की हो उसे फोन कीजिए, या फिर मुस्कुराकर लोगों का अभिवादन कीजिए। यह सब आप को सकारात्मक ऊर्जा से भर देगा।

छोटी-छोटी जीत पर खुद को शाबाशी भी दीजिए। जिन कामों को आप बेहतर ढंग से अंजाम नहीं दे पा रहें उन पर अत्यधिक ऊर्जा व समय नष्ट करने से बेहतर है आप उन कामों को पहले कीजिए जिसमें आप निपुण हों। ऐसा करने से आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आपको मुश्किल कामों को अंज़ाम देने के लिए आवश्यक उर्जा भी हासिल होगी।

कृतज्ञता का अभ्यास कीजिए। रोज सोने से पहले उन बातों के बारे में सोचिए जिनके प्रति आप कृतज्ञ हैं। जब आप उन चीजों की गिनती करने के लिए समय लेते हैं,जो आपको हासिल हैं तो आप यह महसूस करते हैं कि आपका जीवन वास्तव में बहुत सी चीजों से भरा हुआ है। बस आपका दिमाग ही बहुत व्यस्त है यह सब देख पाने के लिए।

कुछ नया सीखिए और अपने साथ पहले से अधिक समय व्यतीत कीजिए पहली बार में यह थोड़ा अजीब सकता है लेकिन अपनी खुद की कंपनी का आनंद लेने के लिए यह सीखना महत्वपूर्ण है । यह अपने स्वयं के विचारों और जरूरतों को जानने और समझने का एक अच्छा तरीका है।

यह कुछ उपाय हैं जिनकी सहायता से अच्छी आदतों को अपनाकर सही रास्ते पर वापस लौटा जा सकता है। जीवन अनमोल है इसकी परवाह कीजिए। जो सोचते हैं उस पर अमल भी कीजिए। उम्मीद है यह साल आपके लिए और खुशियां लाएगा एवं इस वर्ष मिलने वाले अनुभवों से आप और अधिक निखरेंगे और बेहतर बनेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.